क्त व्यापार समझौता लागू का विरोध करने तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू कराने समेत नौ सूत्रीय मांगों को लेकर अखिल भारतीय किसान सभा ने सोमवार को सुभाष चौक से कलेक्ट्रेट तक प्रदर्शन किया

मुक्त व्यापार समझौता लागू का विरोध करने तथा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू कराने समेत नौ सूत्रीय मांगों को लेकर अखिल भारतीय किसान सभा ने सोमवार को सुभाष चौक से कलेक्ट्रेट तक प्रदर्शन किया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अपर उपजिलाधिकारी को सौंपा। प्रदर्शनकारी राज्य कौंसिल सदस्य आनंद प्रकाश चौरसिया, जिला यक्ष कमला यादव, जिला मंत्री सदानंद चौरसिया, जिला उपाध्यक्ष रामजी चौहान के नेतृत्व में सुभाष चौक से सिविल लाइन रोड पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कचहरी चौराहा पहुंचे। जहां प्रदर्शनकारी नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंच ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा है कि किसानों को खरीफ फसल का मुआवजा दिया जायप्रदर्शन करने वालों में रामबदन गोंड, अदालत हुसैन, महेंद्र राजभर, कमरुन निशा, सोनी आजाद, शमीम अख्तर, कमलेश चौरसिया, परमज्योति, काशीनाथ कुशवाहा, चक्रपाणि तिवारी, सुबाष गुप्ता, महेंद्र गोंड, रामखेदारू यादव, केश्वर निषाद, राजमंगल निषाद, रामाज्ञा शामिल रहे। आंदोलन के समर्थन में किसान खेत मजदूर संघ के राष्ट्रीय नेता शिवाजी राय भी मौजूद रहे


Popular posts
इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों से लगातार मॉनिटरिंग भी की जाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इसके अलावा रविवार से ऑटो और टैक्सी को भी डिसइंफैक्ट किया जा रहा है, ताकि वायरस के संक्रमण को रोका जा सके।
एम्स स्थित कोविड-19 अस्पताल में भर्ती हुए दो संक्रमित एम्स ट्रामा सेंटर, दिल्ली स्थित कोविड-19 अस्पताल में आज सुबह ही दो कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती कराया गया है।
डीएम के आदेशानुसार यात्रियों को होटल का किराया एडवांस में जमा करना होगा। होटलों को इनके कपड़ों की धुलाई की व्यवस्था भी अलग से करनी पड़ेगी। उन यात्रियों को खाना भी डिस्पोजेबल प्लेट में दिया जाएगा। होटल के जिन हिस्सों में इन यात्रियों के लिए कोरेंटाइन की व्यवस्था की गई है, उसकी निगरानी के लिए सुरक्षा गार्ड तैनात किए गए हैं, जो होटल में ठहरने आए बाकी लोगों को उस तरफ आने से रोकेंगे।
गैर-सरकारी संगठनों की मदद से, दिल्ली पुलिस 10 दिनों से 6,000 परिवारों को राशन और लगभग 2 लाख लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। हम राज्य में आवश्यक वस्तुओं की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित कर रहे हैं।
उन्होंने बताया कि मरकज से बाहर लाए गए लगभग 2300 लोगों में से 500 लोग जिनमें कोरोना के दिखाई दिए उन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया और 1800 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया। हम उन सभी का परीक्षण कर रहे हैं, उनके परिणाम 2-3 दिनों में आएंगे, इससे सकारात्मक संक्रमितों की संख्या में वृद्धि हो सकती है।