4 किमी रोड पर बिछ गए नोटों के कतरन, लूटने के लिए ग्रामीणों के बीच मची होड़

इटावा. बसरेहर थाना इलाके में शनिवार सुबह इटावा-बरेली हाईवे पर बरसेहर से निकले लिंक रोड पर चार किमी के दायरे में नोटों के कतरन बिछे मिले। कतरन में 10, 20, 50 और 100 के नोटों के कतरन शामिल थे। जिसे बटोरने के लिए लोगों की भीड़ जुट गई। कतरन में नए नोटों के टुकड़े भी शामिल हैं। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि, सुबह 5 बजे के आसपास बसरेहर थाना क्षेत्र के राहिन रोड ग्राम शेरपुरा के सामने सुबह करीब चार बजे नोटों की कतरन से भरा ट्रक जा रहा था, इसी दौरान पेड़ में उलझ कर ट्रक पर लगी तिरपाल फट गई। इससे जगह-जगह नोटों की कतरन फैल गई। जिससे करीब चार किलोमीटर के दायरे में नोटों की कतरन की चादर बिछ गई। सूर्य निकलने पर जब चहलकदमी शुरू हुई तो नोटों की कतरन बटोरने के लिए होड़ मच गई। 
इलाकाई लोगों ने थाना पुलिस को सूचना दी। जिस रास्ते पर नोटों की कतरन मिली है, वह मार्ग सैफई हवाई पट्टी होते हुए आगरा की ओर जाता है। अमूमन गैरकानूनी गतिविधियों को करने वाले इस रास्ते का इस्तेमाल करते हैं। कटे हुए बड़ी तादात में बिखरे हुए नोटों को देख अभी लोग यह तय नही कर पा रहे है कि आखिरकार यह कहां से आए हैं। सबसे बड़ी बात है कि स्थानीय थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच तो जरूर गई है, लेकिन वह भी कुछ समझ नहीं पा रही है कि आखिरकार यह नोट कतरन के रुप में सड़क पर कैसे बिखरे हुए पड़े हैं।


Popular posts
नरेला क्वारंटीन सेंटर में मेडिकल टीम बढ़ाएगी सेना सेना सूत्रों के अनुसार दिल्ली सरकार के लिए भारतीय सेना नरेला क्वारंटीन सेंटर में मेडिकल टीम बढ़ाने जा रही है। अब यहां चार डॉक्टर और आठ नर्स अपनी सेवाएं देंगे । इससे पहले नरेला क्वारंटीन सेंटर में दो डॉक्टर और दो नर्स सेवाएं दे रहे थे।
एम्स स्थित कोविड-19 अस्पताल में भर्ती हुए दो संक्रमित एम्स ट्रामा सेंटर, दिल्ली स्थित कोविड-19 अस्पताल में आज सुबह ही दो कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती कराया गया है।
डीएम के आदेशानुसार यात्रियों को होटल का किराया एडवांस में जमा करना होगा। होटलों को इनके कपड़ों की धुलाई की व्यवस्था भी अलग से करनी पड़ेगी। उन यात्रियों को खाना भी डिस्पोजेबल प्लेट में दिया जाएगा। होटल के जिन हिस्सों में इन यात्रियों के लिए कोरेंटाइन की व्यवस्था की गई है, उसकी निगरानी के लिए सुरक्षा गार्ड तैनात किए गए हैं, जो होटल में ठहरने आए बाकी लोगों को उस तरफ आने से रोकेंगे।